One lakh warriors will probably be ready throughout the nation to combat towards Corona, on job coaching will probably be given to tenth and twelfth cross in 9 districts of Bihar | कोरोना से जंग के लिए देशभर में एक लाख वॉरियर्स किए जाएंगे तैयार, बिहार के 9 जिलों में 10वीं व 12वीं पास को दी जाएगी ऑन जॉब ट्रेनिंग

  • Hindi Information
  • Native
  • Bihar
  • Patna
  • One Lakh Warriors Will Be Ready Throughout The Nation To Battle In opposition to Corona, On Job Coaching Will Be Given To tenth And twelfth Go In 9 Districts Of Bihar

पटनाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

कोरोना से लड़ने के लिए मेडिकल स्टाफ की टीम तैयार की जाएगी। 10वीं और 12वीं पास युवाओं को क्रिटिकल केयर सहित 6 कोर्स में 21 दिनों का प्रशिक्षण दिलाया जाएगा। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्राें, जिलास्तरीय चिकित्सा केंद्राें और अन्य चिकित्सालयों में ऑन जॉब प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। शुक्रवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने पीएमकेवीवाई 3.0 के तहत कोरोना फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए कस्टमाइज्ड क्रैश कोर्स प्रोग्राम की वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग से शुरुआत की। कहा कि इसका मकसद प्रशिक्षण देकर देश में एक लाख काेराेना याेद्धा तैयार करना है। इस अभियान से हमारे स्वास्थ्य क्षेत्र की अग्रिम पंक्ति की फौज को नई ऊर्जा मिलेगी।

देश के 26 राज्यों के 111 प्रशिक्षण केंद्रों पर शुरू हुई इस योजना में बिहार के 9 जिलों के 10 प्रशिक्षण केंद्र शामिल हैं। सभी 111 प्रशिक्षण केंद्रों पर 276 करोड़ रुपए खर्च होंगे। वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग से जुड़े श्रम संसाधन मंत्री जीवेश कुमार ने कहा कि बेगूसराय, गोपालगंज, खगड़िया, मधेपुरा, मुजफ्फरपुर, पटना, सारण, वैशाली और बांका के 10 केन्द्रों पर प्रशिक्षण दिलाया जाएगा। सारण में दो और शेष सभी जिलों में एक केंद्र हैं। इसकी सारी तैयारी पूरी कर ली गई है।

इन 6 कोर्स में युवाओं को दिया जाएगा प्रशिक्षण

1. जनरल ड्यूटी असिस्टेंट (जीडीए) 2. जीडीए एडवांस (क्रिटिकल केयर) 3. होम हेल्थ आईडीई (इन तीनों कोर्स के लिए 10वीं पास होना अनिवार्य है) 4. इमरजेंसी मेडिकल टेक्नीशियन-बेसिक प्रशिक्षण के लिए किसी भी संकाय में 12वीं पास हो। 5. फ्लेबोटोमिस्ट में प्रशिक्षण के लिए 12 वीं विज्ञान से उत्तीर्णता अनिवार्य है। 6. मेडिकल इक्यूपमेंट टेक्नोलॉजी असिस्टेंट के लिए 10वीं के साथ आईटीआई और 3 से 5 वर्षो का कार्य अनुभव हो। या फिर तकनीकी विषयों (इलेक्ट्रोनिक, मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल कंप्यूटर एवं अन्य समरूप) में डिप्लोमाधारक होना आवश्यक है।

मेडिकल स्टाफ की कमी दूर होगी : श्रम मंत्री

मंत्री ने बताया कि जॉब रोल्स प्रशिक्षण से मेडिकल स्टाफ की कमी दूर करने में मदद मिलेगी। स्थानीय स्तर पर स्वास्थ्य सुविधा के लिए विशेष कार्य बल तैयार होगा। कोरोना महामारी के समय इलाज में डॉक्टर के साथ उनके तकनीकी एवं सहायकों की भूमिका भी बहुत ही महत्वपूर्ण है।

रंग-रूप बदल सकता है कोरोना, हमें तैयार रहना होगा : पीएम

प्रधानमंत्री मोदी ने देश में काेराेना के खिलाफ लड़ाई काे मजबूती देने के िलए क्रैश काेर्स की शुरुअात की है। देश के 26 राज्यों में इस कार्यक्रम की शुरुआत हुई है। माेदी ने इस माैके पर फ्रंटलाइन वर्कर्स काे वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से संबाेधित किया। उन्होंने कहा, ‘छह नए क्रैश कोर्स शुरू किए जा रहे हैं। इससे देश में एक लाख से ज्यादा प्रशिक्षित कोरोना योद्धा तैयार होंगे। कोरोना के खिलाफ लड़ाई में हमें तैयारियों को और बढ़ाना होगा। कोरोना के रंग-रूप बदलने की संभावना बनी हुई है। इसलिए इससे निपटने के लिए हमें तैयार रहना हाेगा।

खबरें और भी हैं…

Supply hyperlink

0Shares

Leave a Reply